मैन बुकर पुरस्कार (Booker Prize) क्या है

मैन बुकर पुरस्कार से संबंधित जानकारी

मैन बुकर पुरस्कार  को  बुकर कंपनी और ब्रिटिश प्रकाशन संघ द्वारा संयुक्त रूप से प्रदान किया जाता  है। यह एक ऐसा पुरस्कार है, जो  ब्रिटेन का  साहित्‍य के क्षेत्र में दिया जाने वाला सबसे बड़ा पुरस्‍कार कहा जाता है, जो नोबेल पुरस्‍कारों के बाद  आता है | इस पुरस्कार से प्रत्येक वर्ष बुक्स लिखने वाले महान लेखकों को सम्मानित किया जाता है | इसमें विजेताओं को पुरस्कार के साथ -साथ नकदी भी प्रदान की जाती है और इसके अलावा उन्हें और भी कई सुविधाएँ  प्रदान की जाती है | यदि आप भी मैं बुकर के विषय में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो यहाँ पर आपको  मैन बुकर पुरस्कार (Booker Prize) क्या है, किसे दिया जाता है, इतिहास की जानकारी प्रदान की जा रही है |

नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize) क्या है ?

मैन बुकर पुरस्कार (Booker Prize) क्या है

मैन बुकर पुरस्कार का पूरा नाम “मैन बुकर पुरस्कार फ़ॉर फ़िक्शन” है जिसे छोटा करके मैन बुकर पुरस्कार या बुकर पुरस्कार कहा जाता  है | यह पुरस्कार प्रत्येक वर्ष राष्ट्रमंडल देशों या आयरलैंड के नागरिकों द्वारा लिखे गए उपन्यास को प्रदान किया जाता  है| वहीं इस पुरस्कार की शुरुआत सन 1969  इंग्लैंड की बुकर मैकोनल कंपनी द्वारा इंग्लैंड में की गई थी | जो विजेता लेखक इस पुरस्कार का  हकदार हो जाता है उसे पुरस्कार के साथ – साथ  लगभग 60000 पाउंड की राशि भी दी जाती है | इस पुरस्कार  को विजेता को प्रदान करने के लिए  सबसे पहले उपन्यासों की एक लंबी सूची बनाई जाती है | इसके बाद विजेता लेखकों के नाम घोषित करने के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है | फिर विजेता लेखकों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है | 

मैन बुकर पुरस्कार किसे दिया जाता है

भारत के साथ – साथ और भी सभी देशों में बुकर पुरस्कार का अत्याधिक महत्व माना  जाता है, क्योंकि यह एक ऐसा पुरस्कार होता है, जो विजेताओं को प्रसिद्धि और मान्यता की उपलब्धि कराता है। जब इस पुरस्कार को प्रदान करने के लिए कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है, तो सभी विजेता लेखक इस कार्यक्रम का बहुत ही सम्मान के साथ स्वागत करते है | प्रत्येक वर्ष इस पुरस्कार से सम्मानित करने के लिए , जजों के एक पैनल को मैन बुकर पुरस्कार प्रस्तुत करने वाले कवियों, राजनेताओं, अभिनेताओं, पत्रकारों और प्रसारकों के साथ-साथ  विषयों की एक  लम्बी श्रृंखला से  चुनाव किया जाता है। मैन बुकर पुरस्कार को कई भारतीयों ने भी  प्राप्त किया है और वो न्यायाधीशों के पैनल  में भी शामिल किये गए हैं।  यह पुरस्कार दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण साहित्यिक पुरस्कारों में से एक माना जाता है, कजिसके कारण यह पुरस्कार लेखकों और प्रकाशकों के भाग्य को  बदलने का एक मात्र जरिया होता है |

भारत रत्न पुरस्कार विजेता की सूची (नवीनतम)        

मैन बुकर पुरस्कार को प्राप्त लेखकों की सूची 

वर्ष

लेखकों के नाम

पुस्‍तक

1969

पी.एच.न्‍यूबी

समथिंग दू आंसर फॉर

1970

बर्निस रूबेंस

द इलेक्‍टेड मेम्‍बर

1971

वी.एस.नाइपॉल

इन ए फ्री स्‍टेट

1972

जॉन बर्जर

1973

जे.जे.फैरेल

द सीवेज ऑफ कृष्‍णापुर

1974

स्‍टेनली मिडलटन

हॉलिडे

1974

नादिन गोर्डिमर

द कांसेर्वेशनिस्‍ट

1975

स्‍थ प्रवेर झाबवाला

हीट एंड डस्‍ट

1976

डेविड स्‍टोरी

सविल्‍ले

1977

पॉल स्‍कॉट

स्‍टेइंग ऑन

1978

आइरिस मर्डोक

द सी, द सी

1979

पेनलोप फिजराल्‍ड

ऑफशोर

1980

विलियम गोल्डिंग

राइट्स ऑफ पैसेज

1981

सलमान रूश्‍दी

मिडनाइटस चिल्‍ड्रन

1982

थॉमस केनौल्‍ली

सचिन्‍दलेरस आरक

1983

जे.एम.कोएट्जी

लाइफ एंड टाइम्‍स ऑफ माइकल के

1984

अनीता बरूकनेर

होटल दू लक

1985

केरी हुलमे

द बोन पीपल

1986

किंग्‍सले एमिस

ए ओल्‍ड डेविल्‍स

1987

पेनेलोप लिवली

मून टाइगर

1988

पीटर केरी

ऑस्‍कर एंड लुकिंदा

1989

काजुओ इशिगुरो

द रिमेंस ऑफ हा डे

1990

ए.एस.वयत्‍त

पोजेशन ए रोमांस

1991

बेन ओकरी

द फॅमिशेड रोड

1992

बैरी उन्‍वर्थ

सेक्रेड हंगर

1993

रोडी डोयल

पैडी क्‍लार्क हा हा हा

1994

जेम्‍स केलमन

हाउ लेट आईटी वाज, हाउ लेट

1995

पैट बार्कर

द घोस्‍ट रोड

1996

ग्राहम स्विफ्ट

लास्‍ट ऑर्डर्स

1997

अरूंधति राय

द गॉड ऑफ स्‍माल थिंग्‍स

1998

इयान मैकइवान

एम्‍स्‍टर्डम

1999

जे.एम.कोएट्जी

डिस्‍ग्रेस

2000

मार्गरेट ऐटवुड

द ब्‍लाइंड एसेसिन

2001

पीटर केरी

द हिस्‍ट्री ऑफ द केली गैंग

2002

यान मार्टल

लाइफ ऑफ पाइ

2003

डीबीसी पियरे

वेर्नोन गॉड लिटिल

2004

एलन हॉलिंगहुरस्‍ट

द लाइन ऑफ ब्‍यूटी

2005

जॉन बनविल्‍ले

द सी

2006

किरन देसाई

द इनहैरिटैंस ऑफ लॉस

2007

एनी एनराइट

द गैदरिंग

2008

अरविंद अडिगा

द व्‍हाइट टाइगर

2009

हिलेरी मेंटल

वुल्‍फ हॉल

2010

हॉवर्ड जैकबसन

द फिकंलेर क्‍वेश्‍चन

2011

जूलियन बार्न्‍स

द सेंस ऑफ एन एंडिंग

2012

हिलेरी मेंटल

ब्रिंग अप द बॉडीज

2013

एलिनॉर कैटन

द लुमिनरीज

2014

रिचर्ड फ्लानागन

द नैरो रोड टू द डीप नार्थ

2015

मार्लोन जेम्‍स

ए ब्रीफ हिस्‍ट्री ऑफ सेवन किल्लिंग्‍स

2016

पॉल बेट्टी

द सेलआउट

2017

जार्ज सॉन्‍डर्स

लिंकन इन द बर्डो

2018

अन्ना बर्न्स

मिल्कमैन

2019

जोखा अल्हार्थी

कैलेस्टियल बॉडीज

मैन बुकर पुरस्कार प्राप्त करने वाले भारतीय विजेता    

भारतीय लेखक अरविंद अडिगा ने वर्ष 2008  में मैं बुकर पुरस्कार को प्राप्त किया था।  इसके साथ-साथ   5 बार यह पुरस्कार भारतीय मूल के लेखकों को  भी प्रदान किया गया है, जिसमें वी एस नायपॉल, अरुंधति राय, सलमान रश्दी और किरण देसाई आदि के नाम शामिल है।

मेजर ध्यानचंद पुरस्कार (Dhyan Chand Award) क्या है

यहाँ पर हमने आपको मैं बुकर पुरस्कार के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि इस जानकारी से सम्बंधित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न या विचार आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है, हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है | अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे पोर्टल kaiseinhindi.com पर विजिट करते रहे |

द्रोणाचार्य पुरस्कार (Dronacharya Award) क्या है