कोटेदार के खिलाफ शिकायत कैसे करे

ग्राम प्रधान या सरपंच और कोटेदार की शिकायत 

सरकार द्वारा गरीब तथा निर्धन लोगो के लिए राशन डीलर अर्थात कोटेदार के मध्यम से राशन उपलब्ध कराया जाता है, परन्तु कोटेदार द्वारा कार्ड के अनुसार उचित मात्रा में राशन न दिए जानें की जानकारी अक्सर समाचार पत्रों और लोगो द्वारा प्राप्त होती है| यहाँ तक कि राशन के लिए लोगो को कई दिनों तक राशन की चक्कर लगानें पड़ते है, क्योंकि राशन की दुकान समय पर नही खुलती है| यह समस्या ग्रामीण क्षेत्रो में अधिक है| यदि आपको कोटेदार से सम्बंधित समस्या का समाधान नही होता है, तो आप घर बैठे ही ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा सकते हैं| शिकायत पर क्या कार्यवाही हुई, उसका ऑनलाइन स्थिति भी जाँच सकते हैं। कोटेदार के खिलाफ शिकायत कैसे करे? इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है|

ये भी पढ़े: राशन कार्ड (Ration Card) के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

ये भी पढ़े: ऑनलाइन शिकायत कैसे दर्ज करे

राशनकार्ड क्या है (Ration Card Kya Hai)

राशनकार्ड एक ऐसा कार्ड है, जिसे राज्य सरकार द्वारा अपने नागरिकों को जारी किया जाता है। इस कार्ड के द्वारा कोई भी नागरिक जिसे राशनकार्ड जारी किया गया हो, शासकीय उचित मूल्य की दुकान या राशन डिपो से चावल,नमक, शक्कर, केरोशीन आदि सस्ते दामों पर प्राप्त कर सकता है। इसके अतिरिक्त राशनकार्ड पहचान पत्र के रूप में भी काम आता है।

ये भी पढ़े: एक देश एक राशन कार्ड योजना क्या है?

राशन डीलर की शिकायत (Complaint For Ration Dealer)

राशन डिपो सें संबधित शिकायत व राशन से संबधित जानकारी लेने के लिए अधिकारियों व कोटेदार के चक्कर लगनें पड़ते थे, कई दिनों तक भटकने के बाद भी पूर्ण जानकारी नहीं प्राप्त होती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। इसके साथ लोगों को शिकायत करनें के लिए भी अधिकारियों के पास नहीं जाना होगा। अब खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने लोगों की सहायता व शिकायत के लिए सार्वजनिक वितरण प्रणाली के लिए टोल फ्री नंबर 18001800150  एवं 1967 जारी किया गया है। इन नंबरों पर किसी भी कार्य दिवस पर जानकारी लेने के साथ शिकायत की जा सकती है।

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में शिकायत व राशन संबधित जानकारी के लिए सबसे अधिक गांवों के लोगों को परेशान होना पड़ता है। खाद्य आपूर्ति विभाग के सार्वजिनक वितरण प्रणाली में भ्रष्टाचार के अनेक मामले सामने आते है। कोटेदार से परेशान लोग शिकायत करने में आसानी होगी।

ये भी पढ़े: निवास प्रमाण पत्र (Domicile Certificate) के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे ?

ऑनलाइन शिकायत कैसे करे (Online Complaint Process)

  • ऑनलाइन शिकायत करनें के लिए आप खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट या इस https://fcs.up.gov.in/Important/ContactUs.aspx लिंक पर क्लिक करे |

  • यहाँ सबसे नीचे दिए गये ऑनलाइन शिकायत पर क्लिक करे
  • अब आपको शिकायत दर्ज करे पर क्लिक करना होगा|

  • अब आपके सामनें एक नया पेज खुलेगा, जिसमें सभी जानकारी अंकित करे| पूरा फार्म भरनें के बाद  जैसे ही सब्मिट को ओके करते हैं आपके मोबाइल/लेपटॉप स्क्रीन पर  complaint registered successfully दिखाई देने लगेगा। साथ में डॉकेट नम्बर प्राप्त होगा, उसे सावधानी पूर्वक नोट कर लेना है।जब आप कम्पलेन्ट की online स्थिति पता करना चाहेंगे,उस समय इस डॉकेट नम्बर की आवश्यकता पड़ेगी।

ये भी पढ़े: आय प्रमाण पत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे

ग्राम प्रधान या सरपंच की शिकायत (Complaint For Prdahan Or Sarpanch)

उत्तर प्रदेश में रहनें वाले किसी नागरिक को यदि कोई समस्‍या आती है, तो अब वह सीधे मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से शिकायत कर सकते है। इसके लिए एक टोल फ्री नंबर 1076 जारी किया गया है। हालाँकि यह सुविधा नए साल अर्थात 2020 से शुरु होगी। अब आप सीधे प्रदेश के सीएम से शिकायत कर सकेंगे। इस हेल्पलाइन के टोल फ्री नंबर ‘1076’ का हेडक्वार्टर लखनऊ में होगा। जहां से शिकायत संबंधित पटल पर फॉरवर्ड की जाएगी। शिकायत का समाधान के लिए सीएम की टीम द्वारा मॉनीटरिंग की जाएगी।

नए वर्ष से शुरू होने जा रही सीएम की टोल फ्री हेल्पलाइन सेवा आईजीआरएस (इन्टीग्रेटेड ग्रीवांस रिड्रेसल सिस्टम) जनसुनवाई पोर्टल से लिंक की जाएगी। इसके लिए पोर्टल पर अलग से ऑप्शन लिंक किया जाएगा। इस ऑप्शन पर पीडि़त की शिकायत पर क्या कार्रवाई हुई? कौन अधिकारी इसके लिए जिम्मेदार हैं? शिकायत निस्तारण में कहां व्यवधान आ रहा है? इस संबंध में पूरी जानकारी पोर्टल पर मिल सकेगी।

ये भी पढ़े: ऑनलाइन मुकदमा कैसे दर्ज कराएं (यूपी कॉप सिटीजन एप्प)

टोल फ्री नंबर 1076 पर लोग सीधे शिकायत कर सकेंगे। सीएम की टीम इत्मीनान से शिकायत को सुनेगी। इसके बाद सम्बन्धित जिले को निचले स्तर पर फॉरवर्ड की जाएगी। इसमें ये खासियत होगी कि ये शिकायत निचले स्तर पर भेजी जाएगी। निचले स्तर पर इसका समाधान सुनिश्चत किया जाएगा। यदि यहां इसस्तर पर शिकायत का समाधान नहीं हो पाता है। जो जिले के उच्च अधिकारियों जिसमें डीएम, एसएसपी आदि को शिकायत फॉरवर्ड की जाएगी। शिकायत निस्तारण न होने पर इसकी शिकायत शासन को भेजी जाएगी।

ये भी पढ़े: उत्तर प्रदेश राशन कार्ड सूची कैसे देखे, Ration Card Check APL, BPL Online Status

ये भी पढ़े: खसरा खतौनी व नक्शा ऑनलाइन कैसे देखे

ये भी पढ़े: ऑनलाइन जानें आपका आधार कार्ड कहां इस्तेमाल हुआ ?