डिजिटल डिटेक्टिव (Digital Detective) कैसे बनें?

डिजिटल डिटेक्टिव में करियर (Career In Digital Detective) 

वर्तमान समय में साइबर क्राइम बढ़ते जा रहे है, ऐसे में कंप्यूटर फरेंसिक के क्षेत्र में काफी संभावनाएं बढ़ी हैं | एक कंप्यूटर फरेंसिक एक्सपर्ट को सरकार के कार्य और सूचनाओं को सुरक्षित करने के लिए अनेक कार्य करने पड़ते है | यदि कोई साइबर अपराध होता है, तो उसकी जाँच में सहयोग करके अपराधी को पकड़वाने में सहायता करना होता है | इस क्षेत्र में डिजिटल सबूत जुटाने की ट्रेनिंग दी जाती है| डिजिटल डिटेक्टिव या कंप्यूटर फरेंसिक के रूप में आपको सरकारी और प्राइवेट दोनों स्थान पर रोजगार के अच्छे विकल्प आसानी से मिल जायेंगे | यदि आप इस क्षेत्र से जुड़ना चाहते है, तो इस पेज पर डिजिटल डिटेक्टिव बनने के विषय में विस्तार पूर्वक बताया जा रहा है |

ये भी पढ़े: साइबर लॉ में करियर कैसे बनाये

ये भी पढ़े: हैकर कैसे बने – जाने एथिकल हैकिंग के कोर्स

डिजिटल डिटेक्टिव या कंप्यूटर फोरेंसिक क्या है ? (Digital Detective or Computer Forensic)

डिजिटल डिटेक्टिव या कंप्यूटर फोरेंसिक न्यायालयिक विज्ञान की एक शाखा है, इसके अंतर्गत डिजिटल उपकरणों से जानकारी प्राप्त की जाती है, कुछ कोड को डिकोड करना होता है | इसमें उपकरण संचार से सम्बंधित होते है, जैसे कंप्यूटर, मोबाइल, करप्ट हार्ड डिक्स, पेन ड्राइव, ऑनलाइन सेव डाटा की जाँच करना इत्यादि इसे ही डिजिटल डिटेक्टिव या कंप्यूटर फरेंसिक के नाम से जाना जाता है | सबसे पहला अपराध वर्ष 1978 में एक कंप्यूटर से आवश्यक सूचना को फ्लोरिडा मे हटाया गया था, इसके बाद ऐसे अपराधों की संख्या बढ़ती जा रही है |

ये भी पढ़े: जीमेल आईडी को Two Step Verification से सिक्योर कैसे बनाये

 

योग्यता (Eligibility)

डिजिटल डिटेक्टिव या कंप्यूटर फरेंसिक बनने के लिए आपको डिजिटल फरेंसिक साइंस में बीएससी करना होगा, इसके बाद यदि आप हाई पोस्ट को प्राप्त करना चाहते है, तो आपको डिजिटल फरेंसिक साइंस में मास्टर्स डिग्री और साइबर लॉ में बैचलर डिग्री या डिप्लोमा करना होगा | इसके बाद आप  प्राइवेट डिजिटल डिटेक्टिव के रूप में आसानी से जॉब प्राप्त कर सकते और सरकारी जॉब के लिए होने वाली प्रतियोगी परीक्षा में भाग ले सकते है |

ये भी पढ़े: कंप्यूटर पासवर्ड (Computer Password ) रिसेट कैसे करे ?

कोर्स (Course)

एमिटी यूनिवर्सिटी, नोएडा, यूपी – www.amity.edu

बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी, झांसी, यूपी – www.bujhansi.org

उस्मानिया यूनिवर्सिटी, हैदराबाद – www.osmania.ac.in

ये भी पढ़े: भारत के टॉप 10 लॉ कॉलेज – सूची सहित हिंदी में

प्रवेश (Entrance)

डिजिटल डिटेक्टिव या कंप्यूटर फरेंसिक कोर्स में प्रवेश मई महीने में शुरू किये जाते है, यदि आप आवेदन करने के इच्छुक है, तो आप सम्बंधित यूनिवर्सिटी की वेबसाइट के माध्यम से जानकारी प्राप्त करके प्रवेश ले सकते है |

वेतन (Salary)

डिजिटल डिटेक्टिव या कंप्यूटर फरेंसिक कोर्स करने के उपरांत आप 25 हजार रुपये प्रतिमाह के वेतन से अपने करियर की शुरूआत कर सकते है, इसके बाद आपका अनुभव बढ़ने के साथ ही आपके वेतन में भी बढ़ोत्तरी होती रहती है |

ये भी पढ़े: कम्प्यूटर एक्सपर्ट(Computer Expert) कैसे बने

यहाँ पर हमनें आपको डिजिटल डिटेक्टिव के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: एडवोकेट कैसे बने 

ये भी पढ़े: 12th के बाद कैरियर कैसे बनाये