राम नाथ कोविंद से जुडी बेहद ख़ास बात

राम नाथ कोविंद से सम्बंधित ख़ास बाते  

श्री राम नाथ कोविंद जी भारत के 14 वें राष्ट्रपति है, यह एक दलित नेता तथा भारतीय जनता पार्टी के सदस्य भी है | यह 2015 से 2017 तक बिहार के राज्यपाल के पद पर कार्य कर चुके है | यह एक बहुत सम्मानीय व्यक्ति है | यह लगातार दो बार राज्य सभा के सदस्य रह चुके है, इनका राज्य सभा का कार्यकाल 1994 से 2004 तक था | यह पेशे से वकील है, राष्ट्रपति बनने के बाद इनकी पहली विदेश यात्रा अफ़्रीकी देश जिबूती और इथियोपिया की थी | भारत के वर्तमान राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी से सम्बंधित बेहद खास बातों के बारे में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है |

ये भी पढ़े: जवाहर लाल नेहरू का जीवन परिचय

ये भी पढ़े: एपीजे अब्दुल कलाम का पूरा नाम

महत्वपूर्ण जानकारी

  • राम नाथ कोविंद जी का जन्म कानपुर देहात के परौंख गाँव में एक मध्यम-वर्गीय परिवार में हुआ था |
  • राम नाथ कोविंद जी का जन्म जिस गाँव में हुआ था, वह ब्राह्मण एवं ठाकुर बाहुल्य क्षेत्र था | उस पूरे गावं में मात्र चार दलित परिवार निवास करते थे |
  • कोविंद जी के पिताजी परौख गाँव के चौधरी थे, इसके साथ वह एक प्रसिद्ध वैध भी थे, उनके पास एक करियाना और एक वस्त्र की दुकान भी थी |
  • राम नाथ कोविंद जी बचपन से ही एक होनहार विद्यार्थी थे | उन्होंने कानपुर देहात से अपनी प्राथमिक शिक्षा प्राप्त की इसके बाद वह कानपुर चले गए | वहां पर इन्होंने कानपुर विश्वविद्यालय से कॉमर्स और कानून में स्नातक की परीक्षा उत्तीर्ण की |

ये भी पढ़े: लाल बहादुर शास्त्री की मौत का सच

  • स्नातक उत्तीर्ण करने के बाद कोविंद जी दिल्ली चले गए | वहां पर इन्होंने सिविल सेवा में जुड़ने के लिए इसकी परीक्षा की तैयारी करने लगे | तीसरे प्रयास में इन्होंने परीक्षा उत्तीर्ण कर ली, परन्तु इन्हें आईएएस का पद प्राप्त नहीं हुआ, जिस कारण से इन्होंने नौकरी न करने का निर्णय लिया तथा वकालत के क्षेत्र में जाने का निश्चय किया | दिल्ली में कोविंद जी का संपर्क जन संघ के नेता हुकुम चंद से हुआ, जिससे इनका रुझान राजनीति की ओर हो गया |
  • रामनाथ कोविंद जी ने अपने करियर की शुरुआत एक वकील के रूप में की | वर्ष 1971 में वह दिल्ली बार काउंसिल के सदस्य भी थे |
  • रामनाथ कोविंद जी 1977  से 1979 तक दिल्ली उच्च न्यायलय में एक एडवोकेट के रूप में कार्य किया | इसी समय वह तत्कालीन प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई के निजी सहायक भी थे |
  • वर्ष 1978 में वह सर्वोच्च नयायालय में एडवोकेट-ऑन-रिकॉर्ड बने |

ये भी पढ़े: लाल बहादुर शास्त्री के बारे में जानकारी

  •  वर्ष 1980 से वर्ष 1993 तक इन्होंने सर्वोच्च नयायालय में भारत सरकार के स्थाई अधिवक्ता के पद पर कार्य किया
  • 8 अगस्त 2015 को इन्होंने बिहार के 36वें राज्यपाल के रूप में शपथ ग्रहण की |
  • भारतीय जनता पार्टी ने इन्हें 19 जून 2017 को राष्ट्रपति पद के लिए नामित किया |
  • रामनाथ कोविंद जी ने भारत के चौदहवें राष्ट्रपति के रूप में 25 जुलाई 2017 को शपथ ग्रहण की |

सम्बंधित लेख (Related Links)

यहाँ पर हमनें आपको श्री रामनाथ कोविंद जी के विषय में महत्वपूर्ण जानकारी दी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करे, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

ये भी पढ़े: भारत की राष्ट्रभाषा क्या है ?

ये भी पढ़े: ए पी जे अब्दुल कलाम की खोज

ये भी पढ़े: स्वामी विवेकानंद जी के जीवन से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी

ये भी पढ़े:पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जीवन परिचय