राजदूत (Ambassador) क्या होता है?

राजदूत (Ambassador) के विषय में जानकारी

विश्व में कई देश है, यह सभी देश एक- दूसरे से प्रेमभाव व सद्भावना बनाने के लिए अपना एक व्यक्ति एक- दूसरे देश में नियुक्त करते है | जिससे एक देश की आधिकारिक सूचना दूसरे देश में भेजी जाती है | पूर्व समय में एक राजा के द्वारा दूसरे राज्य के राजा को सन्देश पहुंचाने वाले व्यक्ति को राजदूत कहा जाता था | वर्तमान समय में राजदूत का कार्य वही है, लेकिन इसके स्वरूप में परिवर्तन हुआ है | प्रत्येक देश में एक दूतावास का निर्माण किया जाता है | जिसके अंदर राजदूत से सम्बंधित सभी कार्य पूर्ण किये जाते है | इस दूतावास के अंदर सेना को नहीं भेजा जा सकता है | इस पेज पर राजदूत (Ambassador) क्या होता है, राजनयिक दूत का क्या काम होता है, के विषय में बताया जा रहा है |

ये भी पढ़ें: विश्व मे कितने देश है, इनकी राजधानी एवं मुद्रा

राजदूत क्या होता है (What is Ambassador)?

संप्रभु राज्य या देश द्वारा नियुक्त प्रतिनिधि को राजदूत कहा जाता है, यह अपने देश का प्रतिनिधित्व अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन अथवा अंतर्राष्ट्रीय संस्था में करते है | पूर्व समय में रोम, चीन, यूनान और भारत आदि कई देशों में एक राज्य से दूसरे राज्य में सन्देश भेजने के लिए राजदूत का उपयोग किया जाता है | वर्तमान समय में अंतर्राष्ट्रीय विधि का प्रचलन है | इसमें प्रत्येक स्वतंत्र देश अपना राजदूत दूसरे देश में नियुक्त करता है, जिससे दोनों देशों के बीच आधिकारिक सूचनाओं का आदान- प्रदान किया जा सके है, इस समय एक देश के नागरिक दूसरे देश में रोजगार के लिए जाते है, दूसरे देश में जाने के बाद वहां का दूतावास ही अपने नागरिकों के हितों का ध्यान रखता है और किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने पर दूतावास के माध्यम से सहायता को अपने देश से मगायीं जा सकती है |

ये भी पढ़ें: दुनिया के सबसे अमीर देशों की सूची

ये भी पढ़ें: कब लगता है देश और राज्य में राष्ट्रपति का शासन

राजनयिक दूत का कार्य (Work)

  • राजदूत जिस देश में नियुक्त होता है, उस देश में अपने देश का प्रतिनिधित्व करता है |
  • वह मेजबान देश में अपने देश के नागरिकों के हित की रक्षा करता है |
  • राजदूत अपने देश की सरकार के निर्देश पर मेजबान देश के साथ संधिवार्ता करता है |
  • राजदूत मेजबान देश में वाणिज्यिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, वैज्ञानिक गतिविधियों पर नजर बनाये रखता है और इसकी सूचना अपने देश को भेजता है |
  • एक राजदूत का मुख्य कार्य मेजबान देश के साथ मैत्रीपूर्ण सम्बन्धों को बढ़ावा देना है |
  • राजदूत कार्यालय के द्वारा ही पासपोर्ट, वीजा तथा अन्य यात्रा-सम्बन्धी प्रपत्र जारी किये जाते है |

ये भी पढ़ें: भारत के पड़ोसी देश और उनकी राजधानी, मुद्रा

ये भी पढ़े : यूनेस्को द्वारा घोषित भारत के 37 विश्व धरोहर स्थल की सूची

यहाँ पर हमनें आपको राजदूत (Ambassador) क्या होता है, राजनयिक दूत का क्या काम होता है, के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: एशियाई खेल का इतिहास – कब होता है आयोजित

ये भी पढ़े: विश्व में विख्यात टॉप 10 यूनिवर्सिटी की सूची

ये भी पढ़े: जानें देश के टॉप 10 वैज्ञानिको के बारें में

ये भी पढ़े: भारत का नक्शा किसने बनाया