रेलवे स्टेशन मास्टर कैसे बने

रेलवे स्टेशन मास्टर बननें की पूरी जानकारी (Railway Station Master)

किसी भी रेलवे स्टेशन पर स्टेशन मास्टर का एक महत्वपूर्ण और सबसे अधिक सम्मानित अधिकारी होता है| स्टेशन मास्टर, स्टेशन पर होनें वाले सभी प्रकार के कार्यो की गतिविधियों के लिए उत्तरदायी होता है| स्टेशन मास्टर जिस स्टेशन पर नियुक्त किया जाता है, उस स्टेशन को सुचारू, सुरक्षित एवं कारगर ढंग से चलानें के लिए जिम्मेदार होता है| उनका कार्य दूसरों का सुपरविजन करना, गाइडेंस प्रदान करना होता है| भारतीय रेलवे द्वारा समय-समय पर इस पद के लिए भर्ती निकाली जाती है| यदि आप भी रेलवे स्टेशन मास्टर बनना चाहते है, तो इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है|

ये भी पढ़े: रेलवे में नौकरी कैसे पाएं

ये भी पढ़े: रेलवे ग्रुप डी क्या है

शैक्षणिक योग्यता (Qualification)

रेलवे स्टेशन मास्टर बननें के लिए किसी भी वर्ग से ग्रेजुएट अर्थात स्नातक होना अनिवार्य है|

आयु (Age)

 रेलवे स्टेशन मास्टर बनने के लिए अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष है| आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों को नियम के अनुसार छूट प्रदान की जाएगी|

ये भी पढ़े: रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट की सूची

रेलवे स्टेशन मास्टर कैसे बने (Railway Station Master Kaise Bane)

भारतीय रेलवे पूरे भारत में रेलवे स्टेशन मास्टर के पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी करता है| चयन प्रक्रिया के अंतर्गत में रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड रेलवे स्टेशन मास्टर की नियुक्ति के लिए एक कंप्यूटर आधारित ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन किया जाता है| लिखित परीक्षा दो चरणों प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा होती है, जिसके बाद एप्टीट्यूड टेस्ट और अंत में डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन किया जाता है|

ये भी पढ़े: Current Affairs की तैयारी कैसे करे

स्टेशन मास्टर की प्रारंभिक परीक्षा में चार विषय होते हैं, जो इस प्रकार है –

  • अंकगणितीय एबिलिटी(Arithmetic Ability)
  • जनरल नॉलेज(General knowledge)
  • जनरल इंटेलीजेंस(General Intelligence)
  • जनरल इंग्लिश (optional)

ये भी पढ़े: Last Minute Tips प्रतियोगी परीक्षा के लिए जानें विस्तार से

परीक्षा में आब्जेक्टिव अर्थात बहुविकल्पीय प्रश्न पूछे जाते हैं| परीक्षा कुल 100 अंकों की होती है, इसके लिए अधिकतम समय सीमा 90 मिनट निर्धारित होती है| प्रारंभिक परीक्षा में सफल होनें वाले अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा में शामिल किया जाता है|

मुख्य परीक्षा के अंतर्गत कुल 120 प्रश्न पूछे जाते है, इस परीक्षा के लिए 90 मिनट का समय निर्धारित होता है, तथा पूर्णांक 120 अंक होता है|

ये भी पढ़े: प्रतियोगी परीक्षा के लिए लिखित परीक्षा की तैयारी कैसे करे ?

परीक्षा की तयारी कैसे करे (Exam Prepration)

रेलवे या किसी भी अन्य सरकारी नौकरी के लिए आयोजित की जाने वाली प्रतियोगी परीक्षा में गणित और रीजनिंग ऐसे विषय हैं जिनमें पूरे अंक प्राप्त किये जा सकते हैं। गणित और रीजनिंग के प्रश्नों को हल करने के लिए फॉर्मूले और ट्रिक्स जानना अत्यंत आवश्यक है, क्योंकि कम समय में प्रश्नों को हल करना फॉर्मूले और ट्रिक्स पर निर्भर करता हैं।

ये भी पढ़े: परीक्षा के लिए Preparation नोट्स कैसे बनाए

सामान्य ज्ञान की तैयारी के लिए आप निरंतर न्यूज़, समाचार पत्र, इन्टरनेट और टीवी के माध्यम से जानकारी प्राप्त कर सकते है|   सामान्य ज्ञान साथ-साथ अन्य विषयों द्वारा भी बढ़त बनाई जा सकती है। गणित रीजनिंग के अतिरिक्त सामान्य विज्ञान भी पूरे अंक हासिल करने के लिए अच्छा विषय है। यदि आप कोचिंग का चयन करते है, तो कोचिंग के बाद घर पर रूटीन बनाकर सभी विषयों को समय देना आवश्यक है।

ये भी पढ़े: Reasoning को कैसे बनाये आसान

परीक्षा की तैयारी के लिए पुस्तकों की आवश्यकता होती है, परन्तु आधुनिक डिजिटल युग में यूट्यूब वीडियो भी परीक्षा की तैयारी में भागीदारी निभा रहे हैं। यूट्यूब पर विशेषज्ञ भी परीक्षा तैयारी के फॉर्मूले बताते हैं। यहाँ वीडियो के माध्यम से प्रश्नों को हल करनें के अनेक तरीके बताये जाते है, साथ ही बहुत से चैनल करंट अफेयर की रोजाना की वीडियो भी शेयर करते है, जिसके माध्यम से आप अपनी बेहतर तैयारी कर सकते है|

ये भी पढ़े: रेलवे की आधिकारिक वेबसाइट की सूची

स्टेशन मास्टर बनने के लिए आवश्यक गुण (Qualities)

  • स्टेशन मास्टर को अत्यधिक धैर्यवान होना चाहिए।
  • शारीरिक रूप से स्वस्थ, विश्लेषणात्मक मन और सटीक निर्णय लेने की क्षमता होना आवश्यक है|
  • स्टेशन मास्टर के लिए अच्छा संचार कौशल और कंप्यूटर ज्ञान होना आवश्यक है।
  • उनके अधीनस्थों को संगठित करने के लिए उनके पास अच्छे संगठनात्मक कौशल होना चाहिए।
  • स्टेशन मास्टर के लिए अनुशासन, समयबद्धता और वचनबद्धता आवश्यक हैं।
  • स्टेशन मास्टर पद के लिए लीडरशिप क्वालिटी का होना आवश्यक है|

ये भी पढ़े: रेलवे पुलिस कांस्टेबल और सब-इंस्पेक्टर की तैयारी कैसे करे

रेलवे स्टेशन मास्टर की सैलरी एवं अन्य भत्ते (Salary And Other Allowances)

किसी भी सरकारी कर्मचारी की सैलरी पे-बैंड के आधार पर निर्धारित होती है| सभी कर्मचारियों की सैलरी उनके पद एवं उसके अनुरूप ग्रेड के अनुसार निर्धारित की जाती है| रेलवे स्टेशन मास्टर लिए निर्धारित पे-स्केल रु.5200-20200 होती है, और रु.2800 ग्रेड पे दिया जाता है|  इस प्रकार कुल सैलरी लगभग रु 38000 होती है|

रेलवे स्टेशन मास्टर को मिलने वाले भत्तों में ट्रांसपोर्ट एलाउंस और हाउस रेंट एलाउंस (यदि रहने के लिए क्वार्टर नही उपलब्ध कराया गया है तो), डियरनेस एलाउंस, कैश मेडिकल बेनेफिट, ग्रुप मेडिक्लेम और प्रोविडेंट फंड दिया जाता है| सभी एलाउंसेस के लिए निश्चित नियम व शर्तें होते हैं, जो कि क्षेत्र एवं परिस्थिति के अनुसार अलग-अलग होती हैं|

ये भी पढ़े: सरकारी नौकरी मिलेगी जरूर अगर आपका करेंट अफेयर्स होगा मजबूत

यहाँ पर हमनें रेलवे स्टेशन मास्टर बननें के बारें में बताया| यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है|

ये भी पढ़े: TC या TT कैसे बने

ये भी पढ़े: लोको पायलट कैसे बने

ये भी पढ़े: लोको पायलट सिलेबस 

ये भी पढ़े: विभिन्न स्तर की परीक्षाओं की तैयारी कैसे करे