जब पढ़ने बैठे और दिमाग इधर -उधर जाए तो कैसे handel करे

जब पढ़ने बैठे और दिमाग इधर -उधर जाए तो कैसे handel करे 

अधिकांश छात्रों का दिमाग पढ़ाई करते समय इधर- उधर चला जाता है, यह समस्या लगभग सभी छात्रों की है, जिसके कारण वह परीक्षा में अच्छे अंक नहीं प्राप्त कर पाते | वर्तमान समय प्रतिस्पर्धा बहुत अधिक है, ऐसे में बच्चों पर दबाव भी अधिक होता है, परन्तु जैसे ही छात्र पढनें बैठते है, उनका मन एकाग्र नहीं होता, ऐसे में हम अपनें मन को कैसे हैंडल कर सकते है, इसके बारें में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहें है |

ये भी पढ़े: प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कैसे करे

पढ़ते समय दिमाग इधर -उधर जाए तो ऐसे करे handel

1.शुरुआत छोटी और सोच बड़ी रखो 

हमारा मन बहुत ही चंचल होता है, जो इधर से उधर घूमता रहता है, यह एक पल में दुनिया में कही भी चला जाता है, इसलिए इसे तुरंत कंट्रोल नहीं किया जा सकता,यदि पढ़ते समय दिमाग इधर –उधर भटक जाता है, तो शुरुआत में पढ़ाई का समय कम रखें और  धीरे-धीरे इस समय में वृद्धि करे, परन्तु अपनी सोंच को बड़ा रखे, प्रतिदिन के निरंतर अभ्यास से माइंड कंट्रोल होने लगता है, और पढ़ाई में मन लगनें लगता है |

2.पर्याप्त नींद ले और तनाव से दूर रहे

यदि आपकी नींद पूरी नहीं हई है, तो पढ़ाई या किसी भी कार्य में मन नहीं लगेगा, अच्छी नींद से हॉर्मोन सही तरीके से रेगुलेट होते हैं, जिससे माइंड तेज होता है, और शरीर को भी आराम मिलता है, जिससे पढ़ा हुआ याद रखने में मदद मिलती है, इसलिए 6 से 7 घंटे की नींद अनिवार्य रूप से लेनी चाहिए, तैयारी करते वक्त पढ़नें के लिए समय की कमी होती है, जब आपका मन पढ़ते समय इधर उधर जाये, उस समय स्वय से प्रश्न करे, कि इस समय पढ़ाई आवश्यक है या और कुछ,  इसलिए इधर-उधर की बातों में  समय व्यतीत ना करते हुए सिर्फ पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करे ।

3.नियमित पढ़ाई

विश्व के सभी सफल कार्य एक योजना के अंतर्गत किये जाते है, ठीक उसी तरह नियमित पढ़ाई के लिए एक योजना बनाए, पढ़ाई नियमित रहे उसके लिए टाइम टेबल चार्ट बनाए और निर्धारित समयनुसार पढ़ाई करनें  बैठे, पढ़ाई को कभी भी प्रतिदिन के कार्यो से अलग ना समझे, अपने यह समझाना होगा कि,  आपको पढनें के लिए कौन सा समय सही है ? रात या दिन, उसी के अनुरूप चार्ट बनाए और हमेशा उस चार्ट को फॉलो करने के लिए उत्साहित रहे, प्रारंभ में टाइम टेबल को कठिन नहीं बल्कि आसान बनाए जिससे आपको पढ़ाई उबाऊ नहीं लगेगी, बीच-बीच में ब्रेक के लिए भी समय अवश्य निकाले |

4.क्यों पढ़े इसका कारण खोजे 

पढ़ते वक्त कई विद्यार्थी का ध्यान पढ़ाई में ना होकर और अन्य कार्यों में लग जाता है, इसका अर्थ यह है कि,  उनका विजन क्लियर नहीं है,  पहले इस उलझन को क्लियर करे की पढ़ाई जीवन में क्यों करे, फाइनेंसियल प्रॉब्लम के लिए, केरियर के लिए, पेरेंट्स का सपना पूरा होगा इसलिए, सेल्फ-रेस्पेक्ट के लिए या मैं सच में पढ़ना चाहता हूँ, इसलिए सोचे ऐसा क्या कारण है ? जो मुझे इस वक्त पढ़ने के लिए प्रेरित करता है, कारण खोजने के बाद पढ़ाई में अवश्य ही मन लगनें लगेगा, क्योंकि जब विद्यार्थी स्वयं लक्ष्य तैयार करता है, तो वह उसे पूरा करनें के लिए भी प्रतिबद्ध होता है ।

ये भी पढ़े: सफलता के लिए जरुरी है Focus

5.ध्यान भटकाने वाली चीजों को दूर करे

अगर आप लंबे समय तक बिना विचलित हुए पढ़ना चाहते हो तो ऐसी सभी वस्तुओं को स्वयं से दूर रखें, जिससे आपका ध्यान भंग हो जाता हो, जैसे मोबाइल, टीवी, टेबलेट, सोशल मीडिया, रिमोट कंट्रोल गेम्स आदि |  यह चीज़े आपको अपनी ओर आकर्षित करती है, और हम सोचते है, बस थोड़ी देर की तो बात है, परन्तु  इस थोड़ी देर में बहुत देर हो जाती है और आपके समय की अत्यधिक हानि हो करा देती है ।

6.पढाई का सारा सामान पढ़ते वक्त अपने पास रखे

जब भी आप पढने के लिए बेठे तो उससे पहले आपको पढाई से सम्बंधित सभी चीज़े जैसे किताब कॉपी पेन पेंसिल इत्यादि अपनें समीप ही रखें, बाद में यदि आप कोई चीज भूल जाते है, और बीच में पढ़ते वक्त उठ कर वह चीज़ लेने चले जाते है, तो इससे आपका ध्यान हट जाता है, और फिर आपका पढाई में मन नही लगता |

यहाँ आपको हमनें पढ़ने बैठे और दिमाग इधर -उधर जाए तो handel करनें के बारें में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

हमारें पोर्टल kaiseinhindi.com के माध्यम से आप इस तरह की और भी जानकरियाँ प्राप्त कर सकते है | हमारे पोर्टल पर आपको करंट अफेयर्स, डेली न्यूज़,आर्टिकल तथा प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बंधित लेटेस्ट जानकारी प्राप्त कर सकते है, यदि आपको यह जानकारी पसंद आयी हो, तो हमारे facebook पेज को जरूर Like करें, तथा पोर्टल को सब्सक्राइब करना ना भूले |

Read: Reasoning को कैसे बनाये आसान