ncw.nic.in राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत कैसे करें

ncw.nic.in राष्ट्रीय महिला आयोग

वर्तमान समय में महिलाओं के साथ लगातार अपराधिक घटनाए सामने आ रही हैं| अक्सर किसी न किसी दिन कोई न कोई महिला अपराध का शिकार हो जाती हैं, जिसकी वजह से उन्हें अपनी जान तक गंवानी पड़ जाती हैं | आज दुनिया में कोई भी महिला अपने आप को सुरक्षित नहीं कहती हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि, उनके साथ कब कौन सा अपराध हो जाए उन्हें इस बात की खुद ही जानकारी नहीं होती है | इसलिए वो अपने आपको सुरक्षित नहीं समझती हैं और इस तरह में बहुत से लड़कियां और महिलाएं किसी भी काम को करने के लिए बाहर निकलने से डरती हैं |

महिलाओं और लड़कियों पर हो रहे, अपराधों को देखते हुए सरकार और पुलिस उनकी सुरक्षा के लिए कड़े प्रबंध कर रही हैं, जिससे आगे से कोई भी महिला अपराध का शिकार न बन सके और उन्हें सुरक्षित बचाया जा सके, जिसके लिए  राष्ट्रीय आयोग ने एक नई वेबसाइट ncw.nic.in  की शुरुआत  कर दी है, अब इस वेबसाइट पर सभी महिलायें और लड़कियां अपनी शिकायत दर्ज करा सकती है | यदि आप भी  ncw.nic.in राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत करने के विषय में जानना चाहते है, तो यहाँ पर आपको ncw.nic.in राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत कैसे करें, कांटेक्ट नम्बर की जानकारी प्रदान की जा रही है |

ये भी पढ़े: मेडिकल-इंजीनियरिंग के अलावा ये कोर्स दे सकते है रोज़गार

वेबसाइट ncw.nic.in की ख़ास बात क्या है 

महिलाओं को सुरक्षित रखने के लिए और उन्हें सुविधा देने के लिए राष्ट्रीय आयोग ने एक नई वेबसाइट ncw.nic.in  की शुरुआत कर दी है। यह एक ऐसी वेबसाइट है, जो महिला अधिकारों, विभिन्न कानूनों और कृत्यों के बारे में जानकारी  देता है। एनसीडब्ल्यू पोर्टल की सबसे ख़ास बात यह है कि इस पोर्टल के माध्यम से महिलाओं को ऑनलाइन शिकायत दर्ज कराने और ऑनलाइन शिकायत की स्थिति की जांच करने की अनुमति  प्रदान की जाती है। इस सुविधाजनक पोर्टल की शुरुआत अध्यक्ष रेखा शर्मा द्वारा  की गई |

ये भी पढ़े: डिग्री और डिप्लोमा में क्या अंतर है

महिलाओं के लिए राष्ट्रीय आयोग क्या है?  

एनसीडब्ल्यू भारत सरकार से संबद्ध सांविधिक निकाय है, जो देश में महिलाओं से संबंधित नीतिगत मामलों पर सरकारों की सलाह प्रदान करने का काम करते है। अब पूरे देश भर की महिलाएं एनसीडब्ल्यू (राष्ट्रीय महिला आयोग) को उत्पीड़न, यौन दुर्व्यवहार, घरेलू हिंसा आदि से संबंधित अपनी किसी भी प्रकार की शिकायत दर्ज कर सकती है।

इस वेबसाइट की घोषणा कब की गई 

12 दिसंबर 2018 को राष्ट्रीय महिला आयोग (National Women’s Commission) की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने  इस वेबसाइट के लॉन्च की घोषणा की थी।  इस NCW पोर्टल के माध्यम से ही  लगातार महिलाओं के विकास में योगदान दिया जा सकेगा और साथ ही में यह पोर्टल उनके सभी अधिकारों के लिए काम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा |

ये भी पढ़े: सिविल इंजीनियर (Civil Engineer) कैसे बने ?

ये भी पढ़े: बीटेक (B.Tech) कैसे करे – योग्यता, फीस

ncw.nic.in राष्ट्रीय महिला आयोग में ऑनलाइन शिकायत करें

  1. nic.in राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत दर्ज करने के लिए सभी महिलायें सबसे पहले एनसीडबल्यू की आधिकारिक वेबसाइट ncw.nic.in पर जायें |

2. इसके बाद वेबसाइट के में पेज पर “NCW Applications” पर स्क्रॉल करें और “Online Complaint Registration” लिंक पर क्लिक कर दें | इसके अलावा  आप दिए गए डायरेक्ट लिंक पर भी क्लिक कर सकते हैं |

3.फिर आप National Commission for Women Complaint Registration Form  खोलना होगा, जिसके लिए आपको “Click Here for Registration of Complaint” विकल्प पर क्लिक  करना होगा

4.इसके बाद आपके सामने एक राष्ट्रीय महिला आयोग शिकायत रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलकर आएगा, जिसमें आप मांगी गई जानकारी भरकर सबमिट कर दें |

5.फिर आपके शिकायत nic.in राष्ट्रीय महिला आयोग में दर्ज हो जाएगी |

NCW की स्थापना कब हुई

महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इस NCW की स्थापना भारतीय संविधान के प्रावधानों के तहत जनवरी 1992 में  की गई थी | महिलाओं के अधिकारों का किसी भी तरह से शोषण ना हो इस उद्देश्य से इस पोर्टल की स्थापना की  स्थापना की गई |

ncw.nic.in के कांटेक्ट नम्बर की जानकारी

ncw.nic.in राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत दर्ज करने के लिए  राज्य महिला आयोग ने महिलाओं की सुविधा के लिए एक वॉट्सऐप नम्बर जारी कर दिया है। इसी नंबर का इस्तेमाल करते हुए महिलाएं  अपने आधार नम्बर के साथ शिकायत दर्ज करवा सकती हैं।

+91-11-26944880

+91-11-26944883

वॉट्सऐप नम्बर 

6306511708

महिला आयोग की सदस्य सुनीता बंसल ने बताया कि, “जिनकी कहीं सुनवाई नहीं हो रही, वे भी इस नम्बर पर शिकायत कर सकती हैं। शिकायत मिलने के बाद आयोग तुरंत सम्बंधित थाने से रिपोर्ट मांगेगा।”

आयोग ने महिला अपराध से जुड़े मामलों की सुनवाई के लिए इस पोर्टल की शुरुआत की है। सुनीता बंसल ने बताया कि, “आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम ने 25 सदस्यों को तीन-तीन जिलों का कार्यभार सौंपा है। ये सदस्य जिलों में हर महीने के पहले और तीसरे बुधवार को महिलाओं की शिकायतें सुनेंगी और उनकी समस्याओं का जल्द से जल्द निस्तारण करवाएंगी।”

ये भी पढ़े: एनआरसी (NRC) क्या है?

ये भी पढ़े: भारत की राष्ट्रभाषा क्या है ?

ये भी पढ़े: सूचना का अधिकार (RTI) क्या है

ये भी पढ़े:  जम्मू कश्मीर और लद्दाख में कितने जिले है

महिलाओं से जुड़े अपराध 

  • शीर्ष जिसके अन्‍तर्गत शिकायतें पंजीकृत हैं।
  • महिलाओं के साथ हिंसा
  • एसिड प्रहार
  • बलात्कार का प्रयास
  • बलात्कार
  • यौन उत्पीडन
  • लिंग चयनात्‍मक गर्भपात;  कन्या भ्रूण हत्या/उल्‍ववेधन
  • यौन उत्पीडन जिसमें कार्यस्थल पर यौन उत्पीडन शामिल है
  • महिला अधिकारों के लिए अपमानजनक सती प्रथा, देवदासी प्रथा और डायन के शिकार जैसी परंपरागत प्रथाएं
  • स्‍त्री अशिष्ट निरूपण
  • दहेज उत्पीडन /दहेज मृत्यु
  • महिलाओं का अवैध देह व्यापार/वेश्यावृत्ति
  • महिलाओं का शील भंग
  • लुक-छिपकर पीछा करना/द्रश्यरतिकता
  • महिलाओं के साथ साइबर अपराध
  • द्विविवाह/बहुविवाह
  • विवाह के लिए वरणाधिकार
  • गरिमा के साथ रहने का अधिकार (घरेलू हिंसा/क्रूरता तथा उत्पीडन)
  • महिला-पुरूष भेदभाव
  • तलाक के मामले में बच्चों की अभिरक्षा का अधिकार
  • महिलाओं के लिए नि:शुल्क कानूनी सहायता
  • महिलाओं की निजता तथा इससे संबंधित अधिकार
  • महिलाओं के विरूद्ध पुलिस उदासीनता
  • महिलाओं का प्रजनन स्वास्थ्य अधिकार

ये भी पढ़े: कब लगता है देश और राज्य में राष्ट्रपति शासन 

ये भी पढ़े: इलेक्ट्रिकल इंजीनियर कैसे बनें?

शिकायतों का विश्लेषण

महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों और हिंसा से निपटने के लिए सरकार के रूटीन कार्यकरण में अंतरालों को समझने तथा सुधारात्मक उपायों  का  हल निकालने के लिए  शिकायतों का विश्लेषण किया जाता है ।

शिकायतों का पुलिस, न्यायपालिका, अभियोक्ता, न्यायिक वैज्ञानिकों, रक्षा अधिवक्ताओं तथा अन्य प्राथमिक कार्यकर्ताओं को संचेतना कार्यक्रमों के लिए केस अध्ययनों के रूप में भी  इस्तेमाल किया जाता है  |

ये भी पढ़े: केमिकल इंजीनियरिंग में करियर कैसे बनाये

ये भी पढ़े: वरिष्ठ नागरिक का मतलब क्या होता है

यहाँ पर हमने आपको ncw.nic.in राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत  करने के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है, और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे पोर्टल kaiseinhindi.com पर विजिट करते रहे |

ये भी पढ़े: भारत की समुद्री सीमा कितनी है | भारत के समुद्र तटीय राज्य

ये भी पढ़े: वर्तमान में संघ सूची,राज्य सूची,समवर्ती सूची में कितने विषय है

ये भी पढ़े: आर्टिकल 35A क्या है ?

ये भी पढ़े: नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 क्या है

ये भी पढ़े:  राज्यसभा के कार्य,शक्ति और अधिकार