मेडिकल लैब तकनीशियन कैसे बनें (Medical Lab Technician)

मेडिकल लैब तकनीशियन से सम्बंधित जानकारी (Information About MLT)

आज समय के साथ-साथ लोगों का खानपान, रहन-सहन और जीवन जीने का तरीका परिवर्तित होता जा रहा है। लोग स्वास्थ्य के प्रति जागरूक हुए हैं। शारीरिक समस्या होते ही वह फौरन डॉक्टरों के पास परामर्श को पहुंच जाते हैं। छोटी से छोटी बीमारी के लिए डॉक्टर मरीजों की विभिन्न तरह की जांच कराते हैं, ताकि बीमारी की स्थिति का पता चल सके। ऐसे में सही इलाज और दवा के लिए मेडिकल लैब टेक्नीशियन की भूमिका अहम हो जाती है। आज के समय में हर हास्पिटल में लैब टेक्नीशियन की आवश्यकता होती है, ऐसे में 12वीं के बाद छात्र-छात्राएं कुशल लैब टेक्नीशियन बनकर अपना करियर बेहतर बना सकते हैं। मेडिकल लैब तकनीशियन कैसे बनें, इसके कोर्स, योग्यता और वेतन के बारे में आपको इस पेज पर विस्तार से बता रहे है |

ये भी पढ़े: 12th के बाद कैरियर कैसे बनाये

ये भी पढ़े: जीएनएम (GNM) कोर्स प्रवेश परीक्षा

मेडिकल लैब टेक्नीशियन क्या है (Medical Lab Technician)

मेडिकल लैब  टेक्नीशियन डॉक्टर्स के निर्देश के अनुसार कार्य करते है | यह डॉक्टर द्वारा लिखी गयी जाँच का टेस्ट करते है तथा उपकरणों के रख-रखाव और उनका सही ढंग से संचालन करते है |  लैबरेटरी में नमूनों की जांच और विश्लेषण में काम आने वाला घोल भी लैब टेक्नीशियन ही बनाते हैं | एक लैब टेक्नीशियन को मेडिकल साइंस के साथ-साथ लैब सुरक्षा नियमों और आवश्यकताओं के बारे में पूरी जानकारी दी जाती है |

लैब टेक्नीशियन नमूनों की जांच का कार्य करते है, लेकिन जाँच में जो परिणाम प्राप्त होते है, उसके अध्ययन के लिए वह प्रशिक्षित नहीं होते है | इनका अध्ययन करने के लिए कई वर्षों के अनुभव की आवश्यकता होती है, इसके बाद ही वह एक सफल पैथोलॉजिस्ट या लैब टेक्नोलॉजिस्ट बन कर रिपोर्ट का विश्लेषण कर सकता है |

ये भी पढ़े: फार्मासिस्ट कैसे बने

ये भी पढ़े: डॉक्टर कैसे बने

मेडिकल लैब कोर्स में क्या पढ़ाया जाता है (Medical Lab Course)

मेडिकल लैब टेक्नोलॉजिस्ट के कोर्स में बेसिक फिजियोलॉजी ,बेसिक बायोकेमिस्ट्री एंड ब्लड टेस्टिंग , एनाटोमी एंड फिजियोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, पैथोलॉजी, एनवायरनमेंट एंड बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट, मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी एवं अस्पताल में कार्य करने का प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है | इसके बाद आपको सर्टिफिकेट ,डिप्लोमा, डिग्री या मास्टर्स डिग्री दे दी जाती है, जिसके आधार पर आप जॉब के लिए आवेदन कर सकते है |

ये भी पढ़े: कैसे बने – अधिकारी, डॉक्टर, इंजीनियर, वैज्ञानिक

योग्यता (Eligibility)

मेडिकल लैब टेक्नीशियन के लिए आपको 12वीं की परीक्षा फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी (पीसीबी) या फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स (पीसीएम) के साथ उत्तीर्ण करना अनिवार्य है |

ये भी पढ़े: विभिन्न क्षेत्रों में करियर की संभावनाएं

कोर्स (Course)

भारत में मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी के लिए तीन प्रकार के कोर्स किये जाते है

  • सर्टिफिकेट कोर्स
  • डिप्लोमा कोर्स
  • डिग्री कोर्स

मेडिकल लैब टेक्नोलॉजिस्ट में सर्टिफिकेट डिप्लोमा ,डिग्री एवं मास्टर्स के दौरान बेसिक फिजियोलॉजी ,बेसिक बायोकेमिस्ट्री एंड ब्लड टेस्टिंग , एनाटोमी एंड फिजियोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी, पैथोलॉजी, एनवायरनमेंट एंड बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट, मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी एवं अस्पताल प्रशिक्षण दिया जाता है |

ये भी पढ़े: डिग्री और डिप्लोमा में क्या अंतर है

सर्टिफिकेट इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (C.M.L.T.)

यह छ: महीने का कोर्स है, इसमें प्रवेश प्राप्त करने के लिए योग्यता है 10 वी पास है |

डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (D.M.L.T.)

इस कोर्स में प्रवेश प्राप्त करने के लिए योग्यता इंटरमीडियट है | इस कोर्स की अवधि है दो वर्ष | इंटरमीडियट में प्रमुख विषय PCB अथवा PCM होने अनिवार्य है |

बी. एस.सी. इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी (B.Sc. MLT)

इस कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको इंटरमीडियट विज्ञान विषयों के साथ उत्तीर्ण करना अनिवार्य है | इसकी अवधि तीन वर्ष है |

एमएससी इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजिस्ट प्रोग्राम

एमएससी इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजिस्ट प्रोग्राम में एडमिशन लेने के लिए आपके पास पहले हाई स्कूल डिप्लोमा होना चाहिए ,इसके बाद 2 साल का एसोसिएट प्रोग्राम करना होगा है | यह प्रोग्राम कम्युनिटी कॉलेज , टेक्निकल स्कूल ,वोकेशनल स्कूल या विश्वविद्यालय द्वारा कराया जाता है | इसमें प्रवेश के लिए प्रवेश प्रक्रिया कॉलेज या विश्वविद्यालय द्वारा निर्धारित की  जाती है | अच्छे कॉलेज में प्रवेश परीक्षा का आयोजन कराया जाता है, तथा अन्य कॉलेज में सामान्यत: बिना प्रवेश परीक्षा के मेरिट के आधार पर ही चयन कर लिया जाता है |

ये भी पढ़े: प्लांट पैथोलॉजी में करियर कैसे बनाये

सेलरी (Salary)

मेडिकल लैब टेक्नीशियन का वेतन 10 हजार रुपये से शुरू होता है, इसके बाद एक पैथोलोजिस्ट के रूप में आपको तीस से चालीस हजार रूपये तक सैलरी आसानी से मिल जाती है, योग्यता और अनुभव के आधार पर इनके वेतन में वृद्धि होती रहती है | देश के साथ-साथ विदेशो में भी इसकी मांग अधिक है |

ये भी पढ़े: फार्मासिस्ट कैसे बने

मुख्य संस्थान (Institutes)

1.इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ पारामेडिकल साइंसेज, लखनऊ

www.iipsinstitute.com

2.डिपार्टमेंट ऑफ पैथॉलजी, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी, अलीगढ़

www.amu.ac.in

3.देल्ही पारामेडिकल एंड मैनेजमेंट इंस्टिट्यूट, नई दिल्ली

www.dpmiindia.com

4.शिवालिक इंस्टिट्यूट ऑफ पारामेडिकल टेक्नॉलजी, चंडीगढ़

www.shivalikinstitute.org

पद (Post)

  • लैब टेक्निशियन
  • लेबोरेट्री मैनेजर
  • कंसल्टेंट
  • सुपरवाइजर
  • हेल्थ एंड सेफ्टी ऑफिसर

मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में करियर (Career In Medical Lab Technician)

मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में आप एक लेबोरेट्रीज, फिजिशियन ऑफिस, ब्ल्ड बैंक, मेडिकल  इक्विपमेंट सेल्स कंपनी, पब्लिक हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन में आसानी से जॉब प्राप्त कर सकते है | आप चाहे तो स्वयं का पब्लिक हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन खोल सकते हैं | आप एक पैथोलॉजी भी खोल सकते है, पैथोलॉजी खोलने के बाद अपने क्षेत्र के डॉक्टर से संपर्क कर सकते है, जिससे डॉक्टर अपने रोगियों की जाँच के लिए आपके पास भेज सकते है | इस प्रकार आप इस क्षेत्र में अपना करियर बना सकते है |

ये भी पढ़े: मेडिकल-इंजीनियरिंग के अलावा ये कोर्स दे सकते है रोज़गार 

यहाँ पर हमनें आपको मेडिकल लैब  टेक्नीशियन बननें के विषय में जानकारी उपलब्ध करायी है, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहे है |

ये भी पढ़े: नीट (NEET) परीक्षा क्या है

ये भी पढ़े: (Private Jobs) प्राइवेट नौकरी कैसे पाए फॉर फ्रेशेर्स

ये भी पढ़े: फिजिकल (Physical) और मेडिकल टेस्ट (Medical Test) क्या होता है