भारत में कितनी नदियाँ है

भारत की नदियों से सम्बंधित जानकारी (About Rivers In India)

Table of Contents

प्राचीनकाल से ही भारत की नदियों का देश के आर्थिक एवं सांस्कृतिक विकास में महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है। भारत में बहुत सी नदियाँ हैं। भारत में नदियों का महत्व ऋग्वैदिक काल से ही अधिक है। इन सभी नदियों का अपना ऐतिहासिक महत्त्व है। बहुत सी नदियों से धार्मिक गाथाएं जुडी हुयी हैं, जो कि धार्मिक व सामाजिक रूप से अत्यंत महत्वपूर्ण है। आज भी देश की सर्वाधिक जनसंख्या एवं कृषि का जमाव नदी घाटी क्षेत्रों में पाया जाता है। प्राचीन काल में व्यापारिक एवं यातायात की सुविधा के कारण देश के अधिकांश नगर नदियों के किनारे ही विकसित हुए थे तथा आज भी देश के लगभग सभी धार्मिक स्थल किसी न किसी नदी से सम्बद्ध है| आईये जानते है, कि भारत में कितनी नदियाँ है, और उनकी सूची के बारें में| 

ये भी पढ़े: भारत में कुल कितने राज्य हैं

ये भी पढ़े: विश्व मे कितने देश है, इनकी राजधानी एवं मुद्रा 

भारत में नदियाँ (Rivers of India)

भारत की नदियों को चार समूहों में विभाजित किया गया है, जो इस प्रकार है –  –

  • हिमालय की नदियाँ
  • प्रायद्वीपीय नदियाँ
  • तटीय नदियाँ
  • अन्तःस्थलीय प्रवाह क्षेत्र की नदियाँ

भारत की नदियों से सम्बंधित जानकारी (Information About Indian Rivers)

भारत में छोटी-बड़ी लगभग 200 मुख्य नदियां हैं। इनमें पानी प्रवाह के अनुसार गंगा नदी देश की सबसे बड़ी नदी है, जबकि लंबाई के अनुसार सिन्धु नदी सबसे बड़ी नदी है। राजस्थान में मात्र 90 कि.मी. बहने वाली अरवरी नदी को भारत की सबसे छोटी नदी माना जाता है।

ये भी पढ़े: यूनेस्को द्वारा घोषित भारत के 37 विश्व धरोहर स्थल की सूची

1.सिंधु नदी (Sindhu River)

भारत की सबसे लंबी नदी सिंधु नदी हैं| सिंधु नदी की लम्बाई 2900 किलोमीटर हैं| सिंधु नदी का उद्गम तिब्बत में स्थित सिन-का-बाब नामक जलधारा से हुआ है| भारत में सिंधु नदी तिब्बत और कश्मीर के बीच बहती हैं| सिंधु नदी नंगा पर्वत के उतरी भाग से होकर दक्षिण पश्चिम में पाकिस्तान के बीचो-बीच से गुजरती है| सिंधु नदी की पांच उपनदियाँ हैं ईरावती, विपासा, वितस्ता, चन्द्रभागा  एंव शतद्रु हैं|

2.गंगा नदी (Ganga River)

गंगा नदी उत्तरी भारत की सबसे प्रमुख नदी है| गंगा नदी की लम्बाई 2,525 किलोमीटर हैं| गंगा नदी की आठ उपनदियाँ है| इसके अपवाह क्षेत्र में भारत के सबसे घने बसे और उपजाऊ राज्य उत्तर प्रदेश, बिहार और पश्चिम बंगाल आते हैं|

3.झेलम (Jhelum River)

झेलम नदी कश्मीर की घाटी के दक्षिण-पूर्व में 4900 मीटर की ऊँचाई पर स्थित वीरिनाग के निकट झरने से निकलती है| कश्मीर में बहुत-सी नदियाँ इससे आकर मिलती हैं| पाकिस्तान में प्रवेश करने से पहले यह नदी श्रीनगर और वूलर झील से बहते हुए एक तंग व गहरे महाखंड से गुजरती है और पाकिस्तान में झंग के निकट यह चेनाब नदी से मिलती है|

4.रावी नदी (Ravi River)

रावी नदी हिमाचल प्रदेश की कुल्लू पहाड़ियों में रोहतांग दर्रे के पश्चिम से निकती है, और राज्य की चंबा घाटी से बहती है| अपने उद्गम स्थान से शुरू होकर पाकिस्तान में मुल्तान के निकट चेनाब नदी के साथ मिलने तक यह 720 किमी. की दूरी तय करती है|

ये भी पढ़े: भारत के प्रमुख शोध-संस्थान (India’s Major Research Institute)

5.व्यास नदी (Vyas River)

व्यास नदी पूरे सिन्धु प्रवाह तंत्र में एक ऐसी नदी है, जो पूर्णतया भारत में बहती है| यह नदी हिमालय में स्थित रोहतांग दर्रे में 4067 मीटर की ऊँचाई पर स्थित व्यास कुंड से निकलती है|

6.यमुना नदी (Yamuna River)

यमुना, गंगा की सबसे पश्चिमी और सबसे लम्बी सहायक नदी है| इसका उद्गम यमुनोत्री हिमनद है| इसका अधिकाँश जल सिंचाई उद्देश्यों के लिए पश्चिमी और पूर्वी यमुना नहरों और आगरा नहर में आता है|

7.रामगंगा नदी (Ramganga River)

यह नदी गैरसेन के निकट गढ़वाल की पहाड़ियों से निकलने वाली अपेक्षाकृत छोटी नदी है| अंत में कन्नौज के निकट यह गंगा नदी में मिल जाती है|

8.घाघरा नदी (Ghagra River)

घाघरा नदी को पहाड़ी क्षेत्र में कर्णाली या कौरियाला और मैदान में घाघरा कहते है| शारदा नदी इससे मिलती है और अंत में छपरा, बिहार में यह गंगा नदी में विलीन हो जाती है|

9.गंडक नदी (Gandak River)

यह नदी दो धाराओं कालीगंडक और त्रिशूलगंगा के मिलने से बनती है| बिहार के चंपारन जिले में यह गंगा मैदान में प्रवेश करती है और पटना के निकट सोनपुर में गंगा नदी में मिलती है|

ये भी पढ़े: जानें देश के टॉप 10 वैज्ञानिको के बारें में

10.काली, काली गंगा, शारदा या सरजू (Kali, Kali Ganga, Sharda or Sarju)

इस नदी का उद्गम उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले में है| यह भारत-नेपाल सीमा के साथ बहती हुई, जहाँ काली या चाइक कहा जाता है, घाघरा नदी में मिल जाती है|

11.बेतवा नदी (Betva River)

बेतवा नदी मध्य प्रदेश में भोपाल से निकलकर उत्तर-पूर्वी दिशा में बहती हुई भोपाल, ग्वालियर, झाँसी, जौलान आदि जिलों में होकर बहती है|

12.सोन नदी (Son River)

गंगा के दक्षिण तट पर मिलनें वाली यह एक बड़ी सहायक नदी है, जो अमरकंटक पठार से निकलती है| पठार के उत्तरी किनारे पर जलप्रपातों की श्रृंखला बनाती हुई यह नदी पटना से पश्चिम में आरा के पास गंगा नदी में विलीन हो जाती है|

13.ब्रह्मपुत्र नदी (Brahmaputra River)

ब्रह्मपुत्र नदी को ब्रह्मा की बेटी भी कहा जाता है| विश्व की सबसे बड़ी नदियों में से एक ब्रह्मपुत्र का उद्गम कैलाश पर्वत श्रेणी में मानसरोवर झील के निकट चेमायुंगडुग हिमनद में है|

14.कोसी नदी (Kosi River)

कोसी नदी गंगा नदी की सबसे बड़ी सहायक नदियों में से एक है| इसका उद्गम तिब्बत में माउंट एवरेस्ट के उत्तर में है, जहाँ से इसकी मुख्य धरा अरुण निकलती है| इस नदी में बाढ़ें बहुत आती हैं, जिससे अपार जन-धन में हानि होती है, इसलिए इसे शोक की नदी भी कहते हैं|

ये भी पढ़े: भारत में कितने रेलवे जोन, मंडल और कितने रेलवे स्टेशन है

15.चम्बल नदी (Chambal River)

यह नदी मध्य देश में महू के निकट जनापाव पहाड़ी से निकलती है ,जो समुद्र तल से 616 मीटर ऊँची है|

16.कृष्णा नदी (Krishna River)

कृष्णा नदी पूर्व दिशा में बहने वाली दूसरी बड़ी प्रायद्वीपीय नदी है, जो सह्याद्री में महाबलेश्वर के निकट निकलती है|  इसकी कुल लम्बाई 1,401 किमी. है|

17.कावेरी नदी (Kaveri River)

कावेरी नदी कर्नाटक के कोगाडु जिले में ब्रह्मगिरि पहाड़ियों से निकलती है, यह मैसूर पठार में या नदी कई जल-प्रपात बनाती है जिनमें शिवासमुद्रम प्रसिद्ध है|

18.तुंगभद्रा (Tungabhadra)

यह तुंगा और भद्रा नदियों के मिलने से बनी है| तुंगा कर्नाटक के पश्चिमी घाट की गंगामूल चोटी के नीचे से और भद्रा, काडूर जिले से निकलती है|

ये भी पढ़े: भारत में कितनी राजनीतिक पार्टी है

19.गोदावरी (Godavari River)

इस नदी को दक्षिण गंगा के नाम से भी जाना जाता है| यह महाराष्ट्र में नासिक जिले से निकलती है, और बंगाल की खाड़ी में जाकर गिरती है|

20.महानदी (Mahanadi)

महानदी छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले में सिहावा के निकट निकलती है| यह उड़ीसा से बहती हुई अपना जल बंगाल की खाड़ी में विसर्जित करती है|

21.माही नदी (Mahi River)

नर्मदा और तापी के बाद यह गुजरात में तीसरी बड़ी नदी है, इस नदी की उत्पत्ति विन्ध्याचल पर्वत से होती है|

22.दामोदर नदी (Damodar River)

दामोदर नदी छोटानागपुर पठार के पूर्वी किनारे पर बहती है, और भ्रंश घाटी से होती हुई हुगली नदी में गिरती है|

23.महानंदा नदी (Mahananda River)

महानंदा नदी, गंगा की एक सहायक नदी है, जो दार्जलिंग पहाड़ियों से निकलकर पश्चिमी बंगाल में गंगा के बाएँ तट पर मिलने वाली अंतिम सहायक नदी है|

ये भी पढ़े: भारत की समुद्री सीमा कितनी है | भारत के समुद्र तटीय राज्य

24.नर्मदा नदी (Narmada River)

नर्मदा नदी अमरकंटक पठार के पश्चिमी पार्श्व से लगभग 1,057 मीटर की ऊँचाई से निकलती है|

25.तापी नदी (Taapi River)

यह पश्चिम दिशा में बने वाली एक अन्य महत्त्वपूर्ण नदी है| यह मध्य प्रदेश में बेतूल जिले में मुलताई से निकलती है, तथा यह सूरत के निकट खम्भात की खाड़ी में विलीन हो जाती है| तापी नदी की लम्बाई 724 किलोमीटर है|

26.लूनी नदी (Luni River)

लूनी नदी पुष्कर के समीप दो धाराओं सरस्वती और सागरमती के रूप में उत्पन्न होती है, जो गोबिंदगढ़ के निकट आपस में मिल जाती है| तलवाड़ा तक यह पश्चिम दिशा में बहती है और उसके बाद दक्षिण-पश्चिम दिशा में बहती हुई कच्छ के रन में जा मिलती है|

27.साबरमती नदी (Sabarmati River)

साबरमती नदी का उद्गम अरावली की पहाड़ियों में राजस्थान के डूंगरपुर जिले में स्थित है| यहाँ से यह दक्षिम-पश्चिम दिशा में 300 किमी० की दूरी तय करनें के पश्चात खम्भात की खाड़ी में विलीन हो जाती है|

ये भी पढ़े: भारत का नक्शा किसने बनाया

नदियाँ और उनके उद्गम स्थल (Rivers And Their Origin)

नदी उद्गम स्थल
सिन्धु तिब्बती क्षेत्र में कैलाश पर्वत श्रेणी में बोखर चू के निकट एक हिमनद
झेलम कश्मीर घाटी के दक्षिण-पूर्व में पीर पंजाल गिरिपद में स्थित वीरिनाग झरना
चेनाब चंद्रा और भागा दो सरिताओं के मिलने से जो हिमाचल प्रदेश में केलांग के निकट तांडी में आपस में मिलती हैं
रावी हिमाचल प्रदेश की कुल्लू पहाड़ियों में रोहतांग दर्रे से
व्यास रोहतांग दर्रे के निकट व्यास कुंड से
सतलज मानसरोवर के नजदीक गंगोत्री हिमनद से
गंगा गोमुख के निकट गंगोत्री हिमनद
अलकनंदा सतोपंथ हिमनद
यमुना यमुनोत्री हिमनद
चम्बल मालवा पठार में महु के नजदीक
घाघरा मापचाचुंगो हिमनद
कोसी माउंट एवरेस्ट के उत्तर में
शारदा मिलाम हिमनद
महानदी दार्जलिंग की पहाड़ियाँ’
सोन अमरकंटक पठार
ब्रह्मपुत्र कैलाश पर्वत श्रेणी में मानसरोवर झील के निकट चेमायुंगडुंग हिमनद
महानदी छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले में सिहावा के निकट
गोदावरी महाराष्ट्र में नासिक जिला
कृष्णा सह्याद्री में महाबालेश्वर के निकट
कावेरी कर्नाटक के कोडागु जिले में ब्रह्मगिरी पहाड़ियाँ
नर्मदा अमरकंटक पठार
तापी मध्य प्रदेश का बेतूल जिले का मुलताई
वैतरणी नासिक जिले में त्रिम्बक पहाड़ियाँ
कालिंदी बेलगाँव जिला
शरावती कर्नाटक का शिमोगा जिला
भरतपूझा, केरल अन्नामलाई पहाड़ियाँ
माही विन्ध्याचल पर्वत
साबरमती अरावली की पहाड़ियाँ
लूनी अमजेर के दक्षिण-पश्चिम से

यहाँ आपको हमनें भारत में नदियों के बारें में बताया, यदि इस जानकारी से सम्बन्धित आपके मन में किसी प्रकार का प्रश्न आ रहा है, अथवा इससे सम्बंधित अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो कमेंट बाक्स के माध्यम से पूँछ सकते है,  हम आपके द्वारा की गयी प्रतिक्रिया और सुझावों का इंतजार कर रहें है |

ये भी पढ़े: भारत की राष्ट्रभाषा क्या है ?

ये भी पढ़े: क्या है भारत चीन सीमा विवाद ? 

ये भी पढ़े: स्टैच्यू ऑफ यूनिटी (Statue of Unity) क्या है